Tuesday, June 28, 2022
HomeदेशModi@8: 'संपर्क से समर्थन' कार्यक्रम लागू करने में शीर्ष 5 सांसदों में...

Modi@8: ‘संपर्क से समर्थन’ कार्यक्रम लागू करने में शीर्ष 5 सांसदों में 3 यूपी के, पीएम खुद करते हैं निगरानी


ममता त्रिपाठी

लखनऊ. मोदी सरकार (Modi Sarkar) के आठ साल पूरे होने पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने कई कार्यक्रमों का आयोजन किया है जिसके जरिए 8 बेमिसाल सालों की मोदी सरकार की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाया जा सके. इसी कड़ी में पार्टी ने अपने सांसदों से लेकर राज्य के हर एक नेता को ‘संपर्क से समर्थन’ कार्यक्रम के तहत लाभार्थियों से सीधे संपर्क साधने का जिम्मा सौंपा है. किन नेताओं ने कितने लोगों से संपर्क किया इसकी रिपोर्ट हर दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास पहुंचती है. प्रधानमंत्री खुद इस बात पर नजर रख रहे हैं कि भाजपा के कितने सांसद, विधायक, नेता आम जनता के साथ संपर्क स्थापित कर रहे हैं.

शोभा कारनदलाजे हैं अव्वल

‘संपर्क से समर्थन’ कार्यक्रम के तहत सबसे ज्यादा लोगों से मिलने वालों में ऊपर के पांच सांसदों में से तीन उत्तर प्रदेश के हैं. जनता के बीच जाने वालों में कर्नाटक की उडुपी चिकमंगलूर से लोकसभा सांसद शोभा कारनदलाजे हैं. शोभा मोदी सरकार में कृषि राज्य मंत्री भी हैं. तेलगांना के निजामाबाद से लोकसभा सांसद अरविंद धर्मपुरी दूसरे स्थान पर हैं. उत्तर प्रदेश के तीन सांसद राजवीर सिंह एटा से सांसद हैं, रेखा वर्मा धौरहरा से सांसद और रमापति राम जो कि देवरिया से सांसद हैं, शीर्ष पांच में शामिल हैं. इस संपर्क कार्यक्रम के दौरान जनता से बातचीत का वीडियो भी बनाना होता है जिसको नमो पोर्टल पर अपलोड किया जाता है.

बड़ी आबादी को मिल रहा कल्याणकारी योजनाओं का सीधा लाभ

भाजपा के बड़े नेताओं का कहना है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के वक्त भी भाजपा सांसदों और नेताओं को जनता के साथ संपर्क करने को बोला गया था, उस समय समाज के प्रबुद्ध लोगों से मिलकर उन्हें भाजपा की नीति-रीति की जानकारी देने को कहा गया था मगर इस बार का मॉडल बिल्कुल अलग है. मोदी सरकार के आठ साल पूरे होने के बाद से भाजपा के बारे में अब किसी को बताने की जरूरत नहीं है. देश में एक बड़ी आबादी को भाजपा सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का सीधा लाभ मिल रहा है, जिसमें उज्जवला योजना के तहत फ्री सिलेंडर, शौचालय, बिजली कनेक्शन, प्रधानमंत्री आवास योजना जैसी स्कीम शामिल हैं. कोविड महामारी के समय से ही देश की लगभग 80 करोड़ आबादी को मुफ्त राशन दिया जा रहा है. हर घर नल योजना मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक है जिसका लाभ एक बड़े वर्ग को मिल रहा है.

‘संपर्क से समर्थन’ का एक उद्देश्य ये भी है कि जो लोग मोदी सरकार की योजनाओं का लाभ ले रहे हैं उनका उसके प्रति क्या फीड बैक है. साथ साथ ऐसे लोगों को भी इस कार्यक्रम के जरिए जागरूक करना है जो किसी कारणवश इन योजनाओं के लाभ से वंचित रह गए हैं.

नमो ऐप में किया गया विशेष प्रावधान

सबसे बड़ी बात लाभार्थियों के साथ माननीयों के संपर्क पर सीधी नजर रखने के लिए नमो ऐप में विशेष प्रावधान किया गया है जिसमें सांसदों और अन्य नेताओं के साथ लाभार्थियों का जो संवाद होता है उसका वीडियो बनाकर अपलोड करना होता है. हर दिन अपलोड होने से लेकर अभी तक अपलोड किए गए वीडियो के आधार पर यह तय किया जाता है कि कौन कौन से सांसद व नेता लोगों से संपर्क करने में कितने सक्रिय हैं. उसी आधार पर चुनावी राज्यों में इन लोगों की डयूटी लगायी जाती है.

‘संपर्क से समर्थन’ के स्कोरबोर्ड की रिपोर्ट हर दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ साथ भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, महासचिव संगठन बीएल संतोष और पार्टी के अन्य वरिष्ठ पदाधिकारियों को भेजी जाती है.

Tags: BJP, Modi Sarkar



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments