Tuesday, June 28, 2022
HomeदेशOMG : वन विहार में अटक गयी सबकी सांस जब बाड़े से...

OMG : वन विहार में अटक गयी सबकी सांस जब बाड़े से बाहर निकल आया बाघ….


 भोपाल. भोपाल के वन विहार में आज उस समय हड़कंप मच गया जब एक बाघ अपने बाड़े से निकलकर बाहर आ गया. उसके बाहर आते ही सैलानियों और वन विहार स्टाफ के पैरों तले जमीन खिसक गयी. स्टाफ ने आनन फानन में सभी सैलानियों को बाहर किया और वन विहार के गेट बंद किए. काफी मशक्कत और तलाश के बाद बाघ पकड़ में आया. तब कहीं जाकर सबकी सांस में सांस आयी.

रोज की तरह सैर सपाटे के लिए वन विहार आए सैलानियों को आज रोमांच और डर का नया अनुभव हो गया. वन विहार में पर्यटकों की आवाजाही और चहल पहल चल ही रही थी कि अचानक सबकी चीखें निकल पड़ीं और पैर जम गए. दरअसल यहां शौर्य नाम का बाघ अपने बाड़े से बाहर निकल आया था. कुछ देर के लिए तो सबकी सांसें फूल गयीं.

बारहसिंघा के बेड़े में आराम फरमा रहा था
वन विहार का शौर्य नाम का बाघ अपने हाउसिंग बाड़े में नहीं दिखाई दिया. जैसे ही ये खबर स्टाफ को लगी तो पूरे वन विहार में हड़कंप के हालात हो गए. स्टाफ ने वन विहार पहुंचे सभी पर्यटकों को आनन-फानन में बाहर निकाला और गेट बंद कर दिया. बाघ शौर्य की तलाश के लिए प्रबंधन ने चार अलग-अलग टीम बनायीं. उसके बाद बाघ  की तलाश शुरू की गई. खासी मशक्कत करने के बाद बाघ बारहसिंघा के बाड़े में पेड़ के नीचे आराम करता हुआ दिखाई दिया. वन विहार की टीम ने फौरन बाघ की घेराबंदी कर उसे ट्रेंकुलाइज किया. ट्रेंकुलाइज बाघ को रेस्क्यू कर दोबारा हाउसिंग बाडे में पहुंचा दिया गया.

ये भी पढ़ें- World Poha Day : इंदौर के पोहे का स्वाद सबकी चीभ पर चढ़कर बोले, रोज 80 टन खपत

खुला छूट गया था गेट
वन विहार प्रबंधन के मुताबिक जू के गेटकीपर की लापरवाही के कारण ऐसा हुआ. गेटकीपर ने बाघ  के हाउसिंग बाड़े का गेट खुला छोड़ दिया था. इसलिए बाघ महाशय घूमते हुए बाड़े से बाहर निकल आए और खुले वन विहार क्षेत्र में पहुंच गया. हालांकि उसने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया. सुरक्षा के तौर पर बाघ को पकड़ना जरूरी था. खासी मशक्कत के बाद उसे दोबारा हाउसिंग बाड़े में पहुंचाया गया.

ये भी पढ़ें-  गडकरी के चैलेंज के बाद सवा सौ किलो के बीजेपी एमपी बन गए दुनिया के सबसे महंगे सांसद…

जान बची तो लाखों पाए
बाघ शौर्य को जनवरी 2021 में हरदा से रेस्क्यू कर वन विहार लाया गया था. उसकी हालत गंभीर थी. हालत में सुधार के बाद उसे सतपुड़ा टाइगर रिजर्व एरिया में छोड़ा गया था ताकि वो प्राकृतिक आवास में शिकार वगैरह सीख सके. वहां से फिर से दोबारा इसे रेस्क्यू कर वनविहार लाया गया है. बाघ के बाहर होने पर कोई बड़ा हादसा हो सकता था.

Tags: Bhopal latest news, OMG News, Tiger reserve news, Wildlife news in hindi



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments