VIDEO: DRDO की शॉर्ट रेंज एयर डिफेंस सिस्टम मिसाइल का सफल परीक्षण, देखें कितनी है खतरनाक

0
16


नई दिल्ली. डीआरडीओ रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने 27 सितंबर 2022 को ओडिशा के तट से दूर एकीकृत परीक्षण रेंज चांदीपुर से जमीन पर आधारित पोर्टेबल लॉन्चर से वेरी शॉर्ट रेंज एयर डिफेंस सिस्टम VSHORADS मिसाइल की दो सफल परीक्षण उड़ानें आयोजित कीं. सुरक्षा को लेकर एक बड़ी सफलता माना जा रहा है.

डीआरडीओ ने 27 सितंबर को ओडिशा के तट से दूर एकीकृत परीक्षण रेंज, चांदीपुर से जमीन पर आधारित पोर्टेबल लॉन्चर से वेरी शॉर्ट रेंज एयर डिफेंस सिस्टम मिसाइल की दो सफल परीक्षण उड़ानें कीं. वीएसएचओआरएडीएस एक मैन पोर्टेबल एयर डिफेंस सिस्टम (MANPAD) है, जिसे डीआरडीओ के रिसर्च सेंटर इमरत आरसीआई हैदराबाद द्वारा अन्य डीआरडीओ प्रयोगशालाओं और भारतीय उद्योग भागीदारों के सहयोग से स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित किया गया है. VSHORADS में लघु प्रतिक्रिया नियंत्रण प्रणाली और एकीकृत एवियोनिक्स सहित कई नवीन प्रौद्योगिकियां शामिल हैं, जो परीक्षणों के दौरान सफलतापूर्वक सिद्ध हुई हैं. कम दूरी पर कम ऊंचाई वाले हवाई खतरों को बेअसर करने के लिए बनाई गई मिसाइल को दोहरे जोर वाली ठोस मोटर द्वारा संचालित किया जाता है.

जमीन पर आधारित पोर्टेबल लॉन्चर से वेरी शॉर्ट रेंज एयर डिफेंस सिस्टम मिसाइल की दो सफल परीक्षण उड़ानों को रक्षा ताकत में इजाफे के जिहाज से बड़ा कदम माना जा रहा है. यह मिसाइलें हवाई खतरों को बेअसर करने के लिए अहम साबित होंगी. VSHORADS एक मैन पोर्टेबल एयर डिफेंस सिस्टम (MANPAD) है जिसे DRDO के रिसर्च सेंटर इमरत (RCI), हैदराबाद द्वारा अन्य DRDO प्रयोगशालाओं और भारतीय उद्योग भागीदारों के सहयोग से स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित किया गया है।

VSHORADS में लघु प्रतिक्रिया नियंत्रण प्रणाली और एकीकृत एवियोनिक्स सहित कई नवीन प्रौद्योगिकियां शामिल हैं, जो परीक्षणों के दौरान सफलतापूर्वक सिद्ध हुई हैं। कम दूरी पर कम ऊंचाई वाले हवाई खतरों को बेअसर करने के लिए बनाई गई मिसाइल को दोहरे जोर वाली ठोस मोटर द्वारा संचालित किया जाता है.

Tags: DRDO, New Delhi news





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here