अनुसया सेवा संगठन ने सभी वार्ड वासियों के साथ मिलकर की आंवले की पूजा

0
27

मुलताई से अल्ताफ अहमद की खास रिपोर्ट एन टीवी टाइम के लिए

अनुसया सेवा संगठन द्वारा आंवला नवमी पर आंवले की पूजा कर दिलाया पेड़ पौधों के संरक्षण का संकल्प

अनुसया सेवा संगठन के सदस्यों ने आज आंवला नवमी पर सभी वार्ड वाशियो को आंवले के पेड़ के महत्व को बताया गया एवं मुलताई ब्रांड एंबेसडर कृष्णा साहू ने बताया कि आंवला नवमी के दिन सभी वार्ड वाशियो के द्वारा विधी विधान से पूजा अर्चना की गई साथ ही सभी को अधिक से अधिक वृक्षों को लगाने व वृक्षो के संरक्षण का संकल्प अनुसया सेवा संगठन द्वारा दिलाया गया क्योंकि आज के दिन सनातन धर्म में कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की नवमी को आंवला नवमी या अक्षय नवमी के रूप में मनाया जाता है पदम पुराण के अनुसार आंवला नवमी के दिन आंवले के वृक्ष पर जल चढ़ाने, दान करने से पुण्य का फल इस जन्म के साथ अगले जन्म में भी मिलता है मान्यता है कि आंवला नवमी के दिन आंवला के वृक्ष की पूजा करने से व्यक्ति को सभी पापों से मुक्ति मिलती है एवं आरोग्यता व सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है इस दिन इस वृक्ष के नीचे बैठने और भोजन करने से सभी आदि-व्याधियों का नाश होता है शास्त्रों में वर्णित है कि अक्षय नवमी के दिन आंवले के वृक्ष में भगवान विष्णु एवं शिवजी का निवास होता है और इस दिन किया गया पुण्य कभी समाप्त नहीं होता है आंवले का दर्शन स्पर्श तथा उसके नाम का उच्चारण करने से वरदायक भगवान श्री विष्णु अनुकूल हो जाते हैं इस अवसर पर वार्ड वाशी व अनुसया सेवा संगठन के कृष्णा साहू,राजेन्द्र जोशी, बालू साहू,राहुल साहू,गौरव घाघरे,लक्ष्मण साहू, बादल साहू,निखिल जैन ,रितेश साहू,आदि उपस्थित हुए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here