खबर पांढुर्ना से अल्ताफ अहमद के साथ प्रवीण गाने की रिपोर्ट

0
38

2019 की मोहगांव जलाशय से पाइप लाइन टेस्टिंग का कार्य पूर्ण,2012 की uidssmt योजना की पाइप लाइन टेस्टिंग होगी कब।

पांढुरना:-नगर में तात्कालिक केंद्र सरकार में मंत्री रहते uidssmt योजना के तहत करोड़ो रुपयों की सौगात पांढुरना नगर विकास हेतु नगर पालिका को मिली जिसके तहत जलावर्धन योजना के अंतर्गत 114 करोड़ की राशि से जलाशय,10-10 लाख लीटर की 3 टँकीया ,फिल्टर प्लांट एवम सम्पूर्ण नगर में पाइपलाइन विस्तार का कार्य होना था,जिसमे केवल 10-10लाख लीटर की टँकीया, फिल्टर प्लांट बना,एवम पाइप लाइन विस्तार का कार्य 2012 की योजना अंतर्गत 20121 के अंतिम समय भी चल ही रहा जिसके चलते 10 वर्षो से पांढुरना की जनता को परेशान होना पढ़ रहा है,करोड़ो के सी.सी.रोड छलनी बन गए,कईं जगह रोड बाधित होते रहे,लाखो लीटर पानी बर्बाद हो गया,कई स्थानों पर पाइप लाइन बदलाव किए गए,आज भी नगर में विस्तार किये पाइप आये दिनों जगह-जगह फूट कर व्यर्थ पानी बहता रहता है, इस विषय पर ठेकेदार का कहना है कि पहले जलाशय का निर्मानं होना था,पानी की निरन्तर सप्लाई नही होने से पाइप गैस के चलते फुट रहे है,क्रियांवयन एजन्सी नगर पालिका पाइप लाइन टेस्टिंग का कार्य कब करेगी यह फिलहाल कहा नही जा सकता दो कार्य काल अंतिम चरण पर है,दोनों कार्यकाल के नेताओ ने नगर की जनता मूलभूत समस्या पर क्यों ध्यान नही दिया यह समझ से परे है,कमलनाथ जी द्वाराजनता के विकास के लिए योजना तो स्वीकृत हुई,परन्तु नपा में बैठे भाजपा पार्टी के अध्यक्षो द्वारा इस पर कोई नैतिक जिम्मेवारी द्वारा क्रियान्वय एजन्सी से पूर्ण कार्य कराने में असफल साबित होते नजर आ रहे।वही दो वर्ष पूर्व तात्कालिक काग्रेस सरकार द्वारा पांढुरना की जनता को पेयजल उपलब्ध कराने हेतु मोहगांव से पांढुरना पाइप लाइन विस्तार का कार्य स्वीकृत कराया था,जी दो वर्षो में पूर्ण होकर टेस्टिंग भी करवा ली और पांढुरना के जनता को पेयजल भी उपलब्ध करवा दिया,परन्तु यह समझ से परे है कि यह भी योजना कमलनाथ जी के प्रयास से पूर्ण हुई,और uidssmt योजना की राशि भी कमलनाथ जी के प्रयास से केंद्र से प्राप्त हुई,फिर 10 साल बाद भी नगर की पाइप लाइन का कार्य चल ही रहा है,तो टेस्टिंग कब होकर जनता को हैंड ओवर होगी,यह तो दोनों राजनीतिक पार्टीयो को सोचना है,आखिर जनता को पेयजल के नाम पर कब तक गुमराह कर रोटियां सेकी जाएगी?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here