त्रिपुरा की घटना को लेकर भोपाल में हुआ विरोध

0
34

NTV time ke liye Altaf Ahmed ki report

त्रिपुरा में मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ हो रही राज्य प्रायोजित हिंसा एवं सोशल मीडिया के माध्यम से विरोध दर्ज करने वाले 100 से अधिक मानवाधिकार कार्यकर्ताओं पर यू.ए.पी.ए के तहत की गई कार्यवाही के खिलाफ भोपाल में विरोध प्रदर्शन

त्रिपुरा में मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ हो रही राज्य प्रायोजित हिंसा एवं इस हिंसा का विभिन्न सॉशल मीडिया पालटफॉर्म के माध्यम से विरोध करने वाले 100 से अधिक मानवाधिकार कार्यकर्ताओं पर यू.ए.पी.ए के तहत की गई कार्यवाही के खिलाफ भोपाल के नीलम पार्क में प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शनकारियों ने त्रिपुरा की भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने भारत सरकार से मांग करते हुए कहा कि केंद्र सरकार को इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप कर त्रिपुरा में संविधान एवं कानून का राज कायम करना चाहिए। मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ हो रही राज्य प्रायोजित हिंसा पर तत्काल रोक लगाने और हिंसा को संगठित तरीके से अंजाम देने वाले लोगों, संगठनों और संस्थाओं के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाय। साम्प्रदायिक हिंसा में शिकार पीड़ितों और उनके परिवारों को उचित आर्थिक सहायता दी जाए, घटना का विरोध करने वाले व सच को उजागर करने वाले सभी मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, वकीलों और अन्य लोगों पर Unlawful Activities Prevention Act (यूएपीए) के तहत लगाए गए केस तत्काल वापस लिए जाए।

प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए मध्य प्रदेश लोकतांत्रिक अधिकार मंच के विजय कुमार ने कहा कि मौजूदा दौर में तमाम लोकतांत्रिक संस्थाओं की हत्या की जा रही है। संविधान एवं कानून को ताक पर रखकर एक खास समुदाय के लोगों के खिलाफ सुनियोजित और संगठित हिंसा की जा रही है। त्रिपुरा सरकार संवैधानिक दायित्वों को भूलकर मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ द्वेषपूर्ण कार्यवाही कर रहा है। सभी लोकतांत्रिक और जनपक्षधर आवाजों का दमन किया जा रहा है। इसलिये आज हम लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता, न्याय और संविधान की रक्षा के लिए एक साथ मिलकर लड़ना होगा।

प्रदर्शन में मध्य प्रदेश लोकतांत्रिक अधिकार मंच, नेशनल कंफेडरेशन ऑफ़ ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइज़ेशन्स (एन. सी.एच. आर.ओ.) ए.पी.सी.आर, मुस्लिम महासभा सहित आम नागरिक शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here