संस्था “दानपात्र” का नाम हुआ एक्सक्लूसिव वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज

0
34
संस्था ”दानपात्र” की टीम

इंदौर। विष्णु मोदी

“दानपात्र” टीम को 1 नवंबर को 1 ही दिन में 2.5 लाख जरूरतमंद परिवारों तक मदद पहुंचाने के लिए एक्सक्लूसिव वर्ल्ड रिकॉर्ड में “दानपात्र” का नाम दर्ज हुआ है। एक्सक्लूसिव वर्ल्ड रिकॉर्ड की श्वेता माहेश्वरी जी एवं एक्सक्लूसिव वर्ल्ड रिकॉर्ड टीम के अन्य सदस्यों द्वारा शनिवार को दशहरा मैदान पर “दानपात्र” टीम को यह अवॉर्ड देकर सम्मानित किया गया।

ऐसे तो इंदौर के नाम कई रिकॉर्ड दर्ज है लेकिन “दानपात्र” ने इंदौर के नाम यह एक अनोखा रिकॉर्ड दर्ज करवा दिया है। “दानपात्र” एक ऑनलाइन निःशुल्क प्लेटफॉर्म है जिसकी मदद से घरों में उपयोग में न आ रहे सामान जैसे कपड़े ,खिलोने ,किताबें ,जूते ,बर्तन इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स , फर्नीचर एवं अन्य सामान को कलेक्ट कर उपयोग लायक बना जरूरतमंद परिवारों तक पहुँचाया जाता है।

इस प्लेटफॉर्म की शुरुआत 10 मार्च 2018 में की गयी थी। जिससे अब तक सेवा कार्य कर 11.5 लाख से ज्यादा जरूरतमंद परिवारों तक मदद पहुंचाई जा चुकी है एवं लगभग 1 लाख से ज्यादा इंदौरवासी इस प्लेटफॉर्म से जुड़ चुके है। इस प्लेटफॉर्म से 5 हजार से ज्यादा वालंटियर्स जुड़े हुए है जो अपना समय देकर सहयोग करते है

“दानपात्र” की पारदर्शिता से कार्य करने की वजह से इंदौर के साथ साथ विदेशों से भी लोग सामान डोनेट कर रहे है। “दानपात्र” के माध्यम से कोई भी व्यक्ति घर बैठे सिर्फ एक फ़ोन कॉल पर या “दानपात्र” ऐप में रिक्वेस्ट डालने पर सामान डोनेट कर सकता है “दानपात्र” टीम के सदस्यों द्वारा रिक्वेस्ट मिलने पर घर जाकर वह सामान कलेक्ट किया जाता है और फिर उसे फ़िल्टर कर जरूरतमंद परिवारों तक पहुँचाया जाता है साथ ही उसका फोटो, वीडियो “दानपात्र” के सोशल मीडिया पेजेस पर जाकर अपलोड कर दिया जाता है जिससे जिसने भी सामान डोनेट किया है वह देख सकें की उसका दिया सामान किस जरूरतमंद परिवार तक पहुंचा है।

“दानपात्र” देने वाले और लेने वालों के बिच सेतु बनकर दोनों की ही मदद कर रहा है इससे घरों में उपयोग में न आ रहे सामान को फेंकने से बचा कर जरूरतमंद परिवारो तक पहुँचाकर उनकी मदद की जा रही है जिससे समाज में कई सकारात्मक बदलाव आ रहे है। संस्था के सदस्यों द्वारा कोरोनाकाल में भी बिना रुके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here