NTV time ke liye khabar Betul se

0
37

बैतूल जिले की शिक्षा व्यवस्था बदहाल

एक शिक्षक एक अतिथि के भरोसे है माध्यमिक स्कूल के 207 बच्चों का भविष्य अंधकार में……..

भैंसदेही महेश राठौर

बैतूल जिले की शिक्षा व्यवस्था बदहाल होती नजर आ रही है. आए दिन कहीं न कहीं से खबर निकलकर आती रहती है कि शिक्षकों की कमी से बच्चों का भविष्य अंधकार में जाता दिख रहा है. लेकिन ये व्यवस्था सुधरने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मामला जिले के भैंसदेही विभानसभ के भीमपुर विकाशखण्ड के रम्भा माध्यमिक विद्यालय से निकलकर सामने आया है.

जहाँ एक शिक्षक एक अतिथि के ही भरोसे माध्यमिक स्कूल संचालित हो रहा है. राज्य सरकार शिक्षा में सुधार और विकास की बात तो करती हैं, लेकिन उनकी ये कोशिश नाकाम होती नजर आ रही हैं. प्रदेश में शिक्षकों की तैनाती के मामले में सरकार गंभीर प्रयास नहीं कर रही है. क्षेत्र के कई स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी है. वहीं सुगम क्षेत्रों में जरुरत से कहीं ज्यादा शिक्षक तैनात हैं. माध्यमिक स्कूल में बच्चों का भविष्य सिर्फ एक शिक्षक एक अतिथि के सहारे है. बच्चे और अभिभावक दोनों ही भविष्य को लेकर चिंतित हैं. क्योकि आदिवासी विधानसभा होने से विद्यालय में गरीब बच्चे ही अध्ययन कर रहे हैं. आर्थिक रूप से सक्षम नहीं होने के कारण इनके अभिभावक इनका दाखिला निजी स्कूलों में कराने में सक्षम नहीं हैं. ऐसे में इन गरीब बच्चों को शिक्षा का अधिकार सही नहीं मिल पा रहा है. सरकार एक ओर तो बच्चों को स्कूल लाने का अभियान चलाती है, दूसरी तरफ शिक्षा विभाग के अधिकारी शिक्षा के स्तर को सुधारने का कोई प्रयास नहीं कर रही हैं।

इनका कहना है
दर्ज संख्या 207 है मैं गणित विषय का शिक्षक हु और मेरे पास केवल एक सामाजिक विज्ञान विषय का अतिथि है अन्य महत्वपूर्ण विषय जैसे विज्ञान , अंग्रेजी , के शिक्षक की आवश्यकता है । विज्ञान विषय के लिए पुरने अतिथि को बुलाने से बीईओ कौशिक सर ने स्पष्ट मना कर रखा है। और अंग्रेजी के लिए कोई आया नही। बीईओ सर ध्यान दे तो व्यवस्था में सुधार आ सकता है। क्योंकि विभाग से सम्बंधित अगर कोई काम हो तो मुझे स्कूल छोड़ कर विकासखण्ड भीमपुर जाना पड़ता है। तो एक अतिथि ही पूरा स्कूल सम्भालता है दो और मिल जाएंगे तो व्यवस्था में सुधार हो सकता है। शिक्षक की आवश्यकता परन्तु बिना बीईओ सर के आदेश के मैं कुछ नही कर सकता।

धोटे सर
प्रधान पाठक
माध्यमिक शाला रम्भा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here